Dictionaries | References

वाल्मीकि रामायण उत्तरकांड

वाल्मीकि रामायण उत्तरकांड  
Variations : वा. रा. उ.; Uttara Kāṇḍa; Uttarakāṇḍa; Rām.7; Ram.7.; Rām7; Rā.7; Rā.m.7

  |  
अनरण्य   अनला   अरुज   आत्मन्   इक्ष्वाकु   इंद्रजित्   उर्वशी   ओजस्   कुत्स   कुम्भ   कल्माषपाद   कुश, लव   कुशीलव   केसरिन्   कालकेय   कौषेय   गान्धर्व   चन्द्र   च्यवन भार्गव   तमस्   दण्डनीति   देवयानी   नैगम   नंदिन्   नलकूबर   नारद   नाहुष   निमि   निवातकवच   निसंदि   प्रकृति   प्रति   प्रभ   प्रभोज्य   प्रमुचि   प्रमोदन   प्रहस्त   प्रहास   प्राचेतस   प्रौष्ठपद   प्लवंग   पुलस्त्य   पुष्कल   पृषत   पुष्पोत्कटा   भया   मनस्   मरुत्त आविक्षित कामप्रि   मूर्धन्   महोदर   माणिचर   माल्यवत्   मालि   मौद्नल्य   यदु   ययाति   लक्ष्मण   वज्रज्वाला   वृत्र   वेदवती   वपुष्मत्   वाल्मीकि   वालिन्   विचेतस्   विद्युज्जिह्र   विद्युज्जिह्व   विधातृ   विभीषण   विश्वकर्मन्   शंखचूड   शत्रुघ्न   शत्रुघातिन्   शंबुक , शंबूक   शूर्पणख , शूर्पनखी   सुकेश   सुदेव   सुबाहु   संयोधकंटक   संयोधकण्टक   सुरथ   सरमा   सालकटंकटा   सावित्र वसु   हेति , हेतृ   तत्र   गत   जानपद   पक्ष   प्रचार   प्रतिक्रिया   प्रतिष्ठा   पर्याय   पुरा   प्रिय   पौरुष   अक्लीब   अक्षय   अंगद   अग्नि   अग्रे   
  |  
: Folder : Page : Word/Phrase : Person

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.
TOP